आईआईटी कोचिंग पिछले जन्म से –आलोक पुराणिक

Alok Puranik

आईआईटी उर्फ इंडियन इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलोजी के एंट्रेस एक्जाम की कोचिंग का लगातार पतन हो रहा है, पहले बच्चे दसवीं क्लास के बाद आईआईटी की तैयारी करते थे। अब मामला दसवीं क्लास से और गिर गया है, पांचवी क्लास के बाद ही बच्चे को आईआईटी एक्जाम की कोचिंग में लेफ्ट-राइट करा दिया जाता है।

आईआईटी कोचिंग का और पतन हुआ, तो मामला गिरकर नर्सरी क्लास तक आ जायेगा। बच्चा नर्सरी में पढ़ने के बाद नाक पोंछता, लालीपौप खाता हुआ आईआईटी कोचिंग के लिए जायेगा।

आईआईटी कोचिंग का और ज्यादा पतन हुआ, तो वह सीन सोचकर ही मुझे डर लगने लगता है-नवजात शिशु का डाइपर बदलते हुए उसकी मां उसे धमकायेगी-बेबी,आज तुमने आईआईटी एक्जाम की तैयारी नहीं की।

इस मुल्क में आईआईटी जितनी जगह दिखता है, उससे बहुत ज्यादा है आईआईटी।

आईआईटी में जाना जीवन का महती नहीं, एकमात्र उद्देश्य है। कुछेक आईआईटी फोकस्ड पेरेंट्स को मैं जानता हूं जो नरेंद्र मोदी और मनमोहन सिंह को सिर्फ एक कारण से रिजेक्ट करते हैं कि उनके जीवन में आईआईटी का कहीं कनेक्शन नहीं है।

Alok Puranik

आईआईटी कोचिंग से त्रस्त एक बच्चे ने मुझे महाभारत के अभिमन्यु की अलग कथा सुनायी, उसने बताया-अर्जुन अपने पुत्र अभिमन्यु को गर्भ में ही आईआईटी की तैयारी करवा रहे थे। अंदर अभिमन्यु बोर हो गया। बाहर आकर उसने जब आईआईटी का एंट्रेस एक्जाम दिया, तो फेल हो गया और शर्म से मर गया।

मुझे लगता है कि बहुत जल्दी आईआईटी-फ्रेंडली रेस्टोरेंट, बस, आटो बनेंगे, बच्चा सफर करते में , रेस्त्रां में खाने खाते में आईआईटी के एंट्रेस एक्जाम के फार्मूले, समीकरण देखेगा।

जल्दी हो सकता है कि ऊपर बच्चे एसोसियेशन बनाकर भगवान से डिमांड करें-कहीं भी भेज दो, युगांडा, इथियोपिया, यहां तक पाकिस्तान तक में, पर इंडिया में ना भेजना, नीचे जाते ही पेरेंट्स पिल पड़ेंगे कि लग बेटा आईआईटी की तैयारी में।

कोई बच्चा भगवान से कहेगा-सर मेरे मां-बाप तो चाहते थे कि मैं पिछले जन्म से ही आईआईटी की तैयारी करके आऊं। मेरे पैदा होते ही मेरे इंजीनियर बाप ने मुझसे भूकंप-रोधी बिल्डिंग का स्ट्रक्चरल डिजाइन पूछ लिया। मैं सदमे में ढेर हो गया। प्लीज इंडिया मत भेजो, आपको मेरी जिंदगी की कसम।

उफ्फ आईआईटी कोचिंग।

Tagged . Bookmark the permalink.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *