मानसिक सामाजिक आर्थिक स्वराज्य की ओर