रचनाओं के लिए प्वाइंट्स

चूंकि पाठक टिप्पणियों के संदर्भ में गुणवत्ता परख में संपादक मंडल बाएस्ड भी हो सकते हैं, इसलिए यदि सबसे अधिक अंक पाने वाली एक से अधिक रचनाओं को प्राप्त अंतिम अंको में अंतर लगभग 100 अंको का है तो ऐसी रचनाओं को संयुक्त रूप से पुरस्कृत घोषित किया जाएगा।

2019 सितंबर द्विमासिक-पुरस्कार

​रचना— लेखक

​संपादक मंडल​प्वाइंट्स

​​सलाहकार मंडलप्वाइंट्स

​पाठक टिप्पणीप्वाइंट्स

​कुलप्वाइंट्स

गाँव – स्मृतियों की पोटली— Mukesh Kumar Sinha

650

850

749 (67 टिप्पणी)

2249 (प्रथम)

कश्मीर का भारत में विलय: महान उपलब्धि है!!— Dr Surendra Bisht

450

1050

220 (8 टिप्पणी)

​1720

फ़िल्म समीक्षा: “आर्टीकल 15”— Sanjay Jothe

950

900

190 (7 टिप्पणी)

2040

जाणे मेरा जीवड़ा— Vijendra Diwach

850

800

610 (70 टिप्पणी)

2260 (प्रथम)

2019 जून द्विमासिक-पुरस्कार

​रचना— लेखक

​संपादक मंडल​प्वाइंट्स

​​सलाहकार मंडलप्वाइंट्स

​पाठक टिप्पणीप्वाइंट्स

​कुलप्वाइंट्स

​बदली— ​Hukum Singh Rajput

​775

​925

​121

1821 (प्रथम)

​रिफ्यूजी— ​Neelam Swarnkar

​450

​950

N/A (did not ​receive any)

​1400

2019 मार्च द्विमासिक-पुरस्कार

​रचना— लेखक

​संपादक मंडल​प्वाइंट्स

​​सलाहकार मंडलप्वाइंट्स

​पाठक टिप्पणीप्वाइंट्स

​कुलप्वाइंट्स

​हमारी दुनिया— Anand Kumar

​675

​300

​131

1106 (प्रथम)

​भंगण मां— Vijendra Diwach

​650

​225

​128

1003 (प्रथम)

​लौटना होगा हमें भी— Ashish Pithiya

​500

​250

​67

​817

​हिंदी फिल्मों में किन्नर व समलैंगिक समाज की उपस्थिति का विश्लेषण— Sangeeta Gandhi

​150​

​275

​119

​544

Comments are closed.