क्या वैवस्वत मनु के राज्याभिषेक से सप्तर्षि संवत प्रारम्भ हुआ? — Dr Surendra Bisht

​Dr Surendra Bisht​ भारतीय परंपरा में उपलब्ध सबसे प्राचीन सप्तर्षि संवत है जो 6777 ईसा पूर्व (6777 BCE) से प्रारंभ होता है। इसकी जानकारी पुराणों में उपलब्ध है और पंडित चंद्रकांत बाली जी का निष्कर्ष है कि इसे यूनानी इतिहासकारों ने भी लिखकर सुरक्षित किया है। उन्नीसवीं सदी (1883) में ‘बुक ऑफ इंडियन इराज’ के लेखक कंनिंगघम ने भी इस 6777 ईसा पूर्व से प्रारंभ होने वाले सप्तर्षि संवत को… Continue reading

वीडियो — घरेलू कूड़ा-संग्रह : कैनबरा, ऑस्ट्रेलिया

Vivek Umrao “सामाजिक यायावर”मुख्य संपादक, संस्थापक – ग्राउंड रिपोर्ट इंडियाकैनबरा, आस्ट्रेलिया कैनबरा में जनरल-कूड़ा, रिसाइकिल-कूड़ा व ग्रीन-कूड़ा तीन प्रकार के घरेलू कूड़ा-संग्रह का काम कैनबरा-सरकार करती है। जनरल-कूड़ा : हर सप्ताह (महीने में चार बार) रिसाइकिल-कूड़ा : एक सप्ताह छोड़कर (महीने में दो बार) ग्रीन-कूड़ा : एक सप्ताह छोड़कर (महीने में दो बार) जिस सप्ताह रिसाइकिल-कूड़ा का संग्रह नहीं होता, उस सप्ताह ग्रीन-कूड़ा का संग्रह होता है। जिस सप्ताह ग्रीन-कूड़ा… Continue reading

भारत में स्वास्थय सेवाओं का हाल — Prof Abhishek K Pandey

Abhishek Kumar Pandey Assistant Professor Department of Botany, Kalinga University, Raipur, Chhattisgarh पूरे विश्व के साथ- साथ भारत की लड़ाई भी कोरोना से चल रही है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व और उनकी दूरदर्शिता के कारण भारत यूरोप जैसी विस्फोटक स्थिति का सामना नहीं कर रहा नहीं तो हालात बद से बदतर होते तथा किसी भी सरकार के लिए इसका सामना करना बिल्कुल असंभव हो जाता वर्तमान में इस… Continue reading

चीन का कपटी-साम्यवाद व फर्जी-विकास बनाम भारत में चीन के अंध-भगत लोग : फोटो लेख — Vivek Umrao

Vivek Umrao “सामाजिक यायावर”मुख्य संपादक, संस्थापक – ग्राउंड रिपोर्ट इंडियाकैनबरा, आस्ट्रेलिया लेखक के दो शब्द मैं जब भी चीन की बात करता हूं, जब भी यह कहने का प्रयास करता हूं कि चीन साम्यवादी देश नहीं है, साम्यवाद के नाम पर धूर्तता से लोगों को मूर्ख बनाता आ रहा है। चीन के लोगों की हालत व भारत के लोगों की हालत में अंतर नहीं, उल्टे कुछ मामले ऐसे हैं, जिनमें… Continue reading

भारत में संविधान-संशोधन के द्वारा कम से कम तीन वर्षों के लिए स्वास्थ्य-आपातकाल-कानून लागू कर देना चाहिए — Vivek Umrao

Vivek Umrao “सामाजिक यायावर”मुख्य संपादक, संस्थापक – ग्राउंड रिपोर्ट इंडियाकैनबरा, आस्ट्रेलिया ​Contents कोरोना-टेस्टिंगसर्वोच्च शासन संचालन समितिकैबिनेट-सचिव-समिति / मुख्य-सचिव-समितिफंड का इंतजामआपातकाल अवधि​लाकडाउन पर लेख यदि भारत को आर्थिक व सामाजिक रूप से बचाना है तो भारत सरकार के प्रधानमंत्री को देश व देश के लोगों के हित के लिए अगले कम से कम तीन वर्षों के लिए संविधान-संशोधन करके स्वास्थ्य-आपातकाल की घोषणा कर देनी चाहिए। संसद का विशेष सत्र बुलाकर, स्वास्थ्य-आपातकाल-कानून… Continue reading

यदि हम यह समझ पाएं कि लाकडाउन कोरोना संक्रमण को खतम नहीं करता, तब ही हम बहुत कुछ सोचने समझने के लिए तैयार हो पाएंगे — Vivek Umrao

Vivek Umrao “सामाजिक यायावर”मुख्य संपादक, संस्थापक – ग्राउंड रिपोर्ट इंडियाकैनबरा, आस्ट्रेलिया दुनिया में ऐसे भी देश हैं जहां के लोगों को यह लगता है कि लाकडाउन से कोरोना का इलाज हो जाता है या लाकडाउन कोरोना को खतम कर देता है। नहीं ऐसा बिलकुल नहीं है। लाकडाउन कोरोना को खतम नहीं करता, न ही इलाज करता है। दरअसल जब किसी स्थान, शहर या देश में कोरोना का संक्रमण कोरोना से… Continue reading

कोरोना संक्रमण-लाकडाउन क्या होता है, आइए जानते समझते हैं — Vivek Umrao

Vivek Umrao “सामाजिक यायावर”मुख्य संपादक, संस्थापक – ग्राउंड रिपोर्ट इंडियाकैनबरा, आस्ट्रेलिया अभी जो लाकडाउन दुनिया के अनेक देशों में चल रहे हैं, कुछ देशो में तो पिछले अनेक सप्ताहों से चल रहे हैं, नहीं पता कि कब तक चलेंगे।  जिन देशों में सरकारें अपने लोगों को विश्वास में लेकर चलतीं हैं, उन देशों ने लोगों से कह रखा है कि नहीं पता कि लाकडाउन कब तक चलेंगे।  कोरोना (COVID-19) ने… Continue reading