8 Responses to तुम अपने बच्चों से तुरंत क्षमा मांगो — Prof Puneet Shukla

  1. बढ़िया कविता, जिसकी अभी बहुत जरूरत है।

  2. Ruchi says:

    उत्तम विचार । क्षमा याचना आसान नहीं मुश्किल है, अगर इतनी महानता इंसान में आजाये तो द्वेष और वैमनस्य का कोई वज़ूद ही नहीं रहेगा।

    • यदि मनुष्य ईमानदार है, संवेदनशील है तो क्षमायाचना बिलकुल भी मुश्किल नहीं। अन्यथा मुश्किल ही नहीं, असंभव सा है।

  3. Neelam says:

    बहुत अच्छी कविता। इस दुनिया में जिस जिस बात के लिए बच्चों को प्रताड़ित किया गया हमें हर उस बात के लिए उनसे माफी मांगनी चाहिए।

  4. Ruchi says:

    उत्तम विचार । क्षमा याचना आसान नहीं मुश्किल है, अगर इतनी महानता इंसान में आजाये तो द्वेष और वैमनस्य का कोई वज़ूद ही नहीं रहेगा।

  5. Vijendra Diwach says:

    शानदार कविता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *