All posts in " Vimal Kumar "
Share

जीवन मझदार

एक भी नाव नहीं है मेरे पास लकड़ी की या कागज़ की और तुम कहते हो कि दो नावों पर सवार हूँ मैं देख ही रहे हो ३२ साल से एक नदी को पार नहीं कर पा रहा हूँ बीच धार में चिल्ला रहा हूँ मुझे बचा लो कोई आता भी नहीं बचाने अब किसी […]

Share

चुनाव में हमें कोई – अपने जाल में फंसाता है

[themify_hr color=”red”] तुम शराब पीते हो और मैं उसे हाथ तक नहीं लगाता आओ हम इस बात पर एक दूसरे को नीचा दिखाएँ तुम गाय का दूध पीते हो और हम उबले अंडे खाते हैं आओ इस बात पर हम एक दूसरे को चाकू दिखाएँ तुम रोमियो हो इसलिए लफंगे हो मैं कृष्ण हूँ तो […]

Share

शेर

[themify_hr color=”red”] शेर अगर तुम्हारे साथ बैठ कर नाश्ता करने लगे डाइनिंग टेबल पर तो यह मत समझना कि वह आदमी बन गया है शेर अगर तुम्हारे साथ पिक्चर हाल में बैठकर फिल्म देखने लगे तो यह मत समझना कि वह कोई दर्शक बन गया है . शेर अगर तुम्हे अपनी बाहों में ले ले […]

Share

एक दिन नदी में राख की तरह बह गया

[themify_hr color=”red”] एक दिन मैं और थोड़ा सा जी गया एक दिन थोडा सा बारिश में भीग गया एक दिन धूप निकल आयी मेरे आँगन में एक दिन मैं मरने से भी बच गया एक दिन मैं धुआं बन गया था एक दिन तो कुआँ बन गया था एक दिन में सुलगती रात था एक […]

Share

मुझे अपनी देह से बाहर निकल जाने दो ..

Vimal Kumar [themify_hr color=”red”] कितनी बार कहा मैं एक देह नहीं हूँ सिर्फ एक स्त्री हूँ मुझे इस जंगल से बाहर निकल जाने दो . कितनी बार कहा चीखकर मैं कोई तितली नहीं हूँ तुम्हारे बगीचे में उडती हुई तुम्हारी नींद में कोई ख्वाब नहीं हूँ . मुझे इस ख्वाबसे बाहर निकल जाने दो नहीं […]

Share

देशभक्त

Vimal Kumar [themify_hr color=”red”] सुबह सुबह वे तुम्हारे मोहल्ले में एक तिरंगा लहराते आयेंगे फिर तुम्हारे घर को आग लगायेंगे क्या तब भी तुम उन्हें कहोगे — देशभक्त ! एक दिन बीच सड़क पर घोंप देंगे पीछे से तुम्हारी पीठ में वे चाकू क्या तब भी तुम कहोगे उन्हें -देशभक्त! बहस होगी जब उनसे तुम्हारी […]

Share

गधा पचीसी

Vimal Kumar [themify_hr color=”red”] मैं एक गधा हूँ चाहूँ तो कुछ भी बन सकता हूँ चुनाव में खड़ा भी हो सकता हूँ किसी योग्य उम्मीदवार को हरा कर जीत भी सकता हूँ फिर मंत्री भी बन सकता हूँ फिर एक दिन इस मुल्क का प्रधानमंत्री भी मैं एक गधाहूँ अपने मालिक का बहुत वफादार हूँ […]