• Home  / 
  • Apoorva Pratap Singh
All posts in " Apoorva Pratap Singh "
Share

धर्म रक्षा के नाम पर धार्मिक भीरूपन और मानसिक संकीर्णताएं

Apoorva Pratap Singh जब मैं पैदा हुई थी उससे कुछ समय पहले बाबरी तोड़ी गयी थी । राम एक नारा बन चुके थे । फिर भी घर के वातवरण के कारण मैं एक लंबे समय तक इस बात गर्व करती रही कि मेरे पास हजारों भगवान हैं फिर पता नहीं कैसे मेरे दिमाग में अपने […]

Share

अब तक आपने आईने से धूल साफ क्यों नहीं की है?

Apoorva Pratap Singh मैंने उनको बचपन से देखा । उनकी और मेरी उम्र में बड़ा फासला होते हुए भी उन्होंने उनके दिल में आई हर बात पहले मुझे बताई । जब वो नवी में थी तब से उनको शादी करनी थी, फिर बारहवी करते हुए भी उनको शादी करनी थी । जिन जिन से उनकी […]