Breaking News

अस्वीकरण (डिस्क्लेमर)

लेख में विचार लेखक के अपने विचार हैं। ग्राउंड रिपोर्ट इंडिया में प्रकाशित होने का तात्पर्य लेखक के विचारों से ग्राउंड रिपोर्ट इंडिया या संपादक या टीम आदि की सहमत होना नहीं हैं। - संपादकीय टीम

3 Comments

  1. Ranvijay Singh
    August 14, 2017 @ 16:31

    aapne jamini hakikat dikhai hai samaj ko.

    Reply

  2. महेश सिंह
    August 13, 2017 @ 14:46

    आपके बिचारों की प्रतीक्षा थी इस घटना पर। पड़ कर अच्छा लगा। वाकई इस घटना के मूल में हमारी सामाजिक असम्बेडनशीलता ही है।

    Reply

    • कपिल इंजिनीयर
      August 13, 2017 @ 20:55

      मेरे हिसाब से तो डॉक्टर जिम्मेदार था जो बिल पास करता था। विभिन्न जर्नल्स के वक्तव्य के हिसाब से डॉक्टर को कमीशनखोरी की गंभीर बीमारी थी। जिससे व्यक्ति पूरी तरह से कमीशन की भाषा में ही संवाद करता है। ये तो सिलेंडर कंपनी की वजह से इस बीमारी के लक्षणों का पता लग पाया कि बीमार कौन था।
      सभी बच्चों को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि।

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top